कोरोना वायरस रोकथाम के लिए JioPhone में आया Aarogya Setu App

Aarogya Setu App मात्र एंड्राइड और iOS फोंस के लिए ही उपलब्ध था, लेकिन अब जियोफोंस (Kaios)पर भी उपलब्ध है

प्रदेश आज, दिल्ली| प्रौद्योगिकी मंत्रालय ने गुरुवार को कहा कि उसने अपने ब्लूटूथ कांटेक्ट-ट्रैकिंग ऐप यानी Aargoya Setu App को 50 लाख Jio फ़ोन यूजर्स के लिए रोलआउट कर दिया है, यह फोंस रिलायंस इंडस्ट्रीज की टेलीकॉम यूनिट द्वारा बेचे जाने वाले सस्ते इंटरनेट-इनेबल्ड डिवाइस हैं।

भारत अपने कोरोनोवायरस कांटेक्ट-ट्रेसिंग एप्प आरोग्य सेतु के एक संस्करण को कुछ ही दिनों के भीतर Jio फ़ोनों के लिए पेश करने के लिए तैयार है, ऐसा लग रहा है कि कदम को उस निर्णय के बाद उठाया गया है कि आरोग्य सेतु एप्प को सभी फीचर फोंस पर भी लाया जाने वाला है, इस बात की जानकारी कुछ दिनों पहले ही सामने आ रही थी।

 

देश में कोरोनोवायरस के प्रसार की लड़ाई के लिए मार्च के अंत में दुनिया का सबसे बड़ा लॉकडाउन लगाया गया था, जिसके बाद पिछले महीने आरोग्य सेतु (Aarogya setu) ऐप को भी इसी कारण लॉन्च किया गया था कि भारत में कोरोना वायरस की रोकथाम को और आगे ले जाया सके. आरोग्य सेतु एप्प ब्लूटूथ और जीपीएस-इनेबल्ड एप्लिकेशन है जो उपयोगकर्ताओं को लोगों के COVID-19 के लिए सकारात्मक परीक्षण के बाद संपर्क में आने के बारे में सचेत करता है।

यह एप्प यानी आरोग्य सेतु एप्प लगभग 10 करोड़ भारतीयों के द्वारा डाउनलोड किया जा चुका है, अभी तक के लिए यह मात्र एंड्राइड और iOS फोंस के लिए ही उपलब्ध था, लेकिन अब इसकी पहुँच जियोफोंस तक भी आ चुकी है, और अब लग रहा है कि आने वाले समय में इसे अन्य फीचर्स तक भी पहुँचाया जाने वाला है।

Aarogya Setu ऐप को नीति आयोग के सीईओ के अमिताभ कांत ने ट्वीट कर यह जानकारी दी कि ऐफ ने 10 करोड़ रजिस्टर्ड यूज़र्स का आंकड़ा पार कर लिया है। रिपोर्ट के मुताबिक, ऐप लॉन्च होने के तीन दिनों में 50 लाख लोगों ने इसे डाउनलोड किया था।

Aarogya Setu ऐप Apple के ऐप स्टोर और Google के प्ले स्टोर के टॉप 10 ऐप्स में भी अपनी जगह बना चुका है। इससे पहले यह ऐप केवल android और iOS यूज़र्स के लिए उपलब्ध था लेकिन अब इसे लैंडलाइन और फीचर फोन यूज़र्स के लिए भी उपलब्ध कर दिया गया है।

इसके लिए Aarogya Setu Interactive Voice Response System (IVRS) सर्विस को पेश किया गया है जो कि टोल-फ्री सर्विस है। इस सर्विस में फीचर फोन और लैंडलाइन यूज़र्स के लिए ‘1921’ टोल फ्री नंबर रखा गया है। इस नंबर पर मिस्ड कॉल करने पर यूज़र के पास दोबारा कॉल आएगा और कॉल पर उसके स्वास्थ्य से जुड़े कुछ सवाल पूछे जाएंगे। जल्द ही ऐप जियोफोन के लिए भी उपलब्ध होने वाला है|

Please follow and like us:

अन्य ख़बरें