विश्वविद्यालय और कॉलेजों की परीक्षाएं रद्द, पिछले साल के परिणामों के आधार पर अगली क्लास में होंगे प्रमोट

ऑनलाइन परीक्षाएं लेने वाले कुछ विश्वविद्यालयों पर यह आदेश लागू नहीं होगा। पीसीएस बनने के लिए पूर्व सैनिकों को अब मिलेंगे छह मौके

प्रदेश आज, पंजाब। कोविड-19 (Covid-19) कोरोना संक्रमण (Corona Virus) के चलते पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने विश्वविद्यालय और कॉलेजों की परीक्षाएं रद्द करने का एलान (Punjab Chief Minister Captain Amarinder Singh Announces Cancellation Of University And Colleges Exams) किया। विद्याथियों को पिछले साल के परिणामों के आधार पर अगली क्लास में प्रमोट (Promoted to next class based on last year’s results) किया जाएगा। हालांकि जो विद्यार्थी अपना रिजल्ट सुधारना चाहते हैं उन्हें बाद में परीक्षा देने का मौका भी दिया जाएगा। ऑनलाइन परीक्षाएं लेने वाले कुछ विश्वविद्यालयों पर यह आदेश लागू नहीं होगा।

ये भी पढ़ें : रेप के आरोपी से 20 लाख की रिश्वत लेने के आरोप में महिला सब इंस्पेक्टर गिरफ्तार, और 15 लाख का डाल रही थी दबाव

अपने साप्ताहिक फेसबुक लाइव सेशन के दौरान मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने कहा कि विश्वविद्यालयों और कॉलेजों की तरफ से इस फैसले को लागू करने के तरीकों पर काम किया जा रहा है। फैसले का एलान अगले कुछ दिन में किया जाएगा। स्कूल बोर्ड परीक्षाओं के बारे में मुख्यमंत्री ने बताया कि राज्य कुछ दिन पहले सुप्रीम कोर्ट में सीबीएसई के फैसले को लागू करेगा। इसके साथ ही कैप्टन ने सभी विद्यार्थियों से अपील की है कि वह अपनी परीक्षाएं रद्द होने के बावजूद पढ़ाई जारी रखें।

ये भी पढ़ें : हत्या के आरोपी हरेंद्र राणा की जमानत ख़ारिज, हस्तिनापुर में की थी गोली मारकर हत्या  

इस दौरान मुख्यमंत्री ने बड़ा एलान करते हुए कहा कि पूर्व सैनिक उम्मीदवारों के लिए पीसीएस परीक्षाओं में अवसरों का विस्तार कर दिया गया है। मौजूदा व्यवस्था के अनुसार, सामान्य श्रेणी में से एससी उम्मीदवारों को मिल रहे असीमित मौके जारी रहेंगे। साथ ही जनरल श्रेणी के पूर्व सैनिकों को ओवर ऑल जनरल केटेगरी की तरह छह मौके मिलेंगे, जबकि इससे पहले उन्हें चार मौके मिलते थे। ओबीसी श्रेणी के पूर्व सैनिकों के लिए अवसरों को बढ़ाकर 9 कर दिया गया है।

Please follow and like us:

अन्य ख़बरें