इस जन्माष्टमी की पूजा में भगवान कृष्ण को लगाएं पंचामृत/चरणामृत का भोग, देखें इसे बनाने की विधि

हिंदू धर्म की हर पूजा का मुख्य प्रसाद होता है चरणामृत (Charanamrit) जिसे पंचामृत भी कहा जाता है। कहने का मतलब ये है कि जब हम इसे बनाते हैं तब यह पंचामृत (Panchamrit) कहलाता है और भगवान के चरणों में चढ़ने के बाद यह प्रसाद बन जाता है और चरणामृत कहलाता है। यह बहुत मीठा व स्वादिष्ट होता है। इसे बनाना बेहद आसान है और यह कुछ ही मिनटों में तैयार हो जाता है। कल जन्माष्टमी है और इसमें भी भगवान कृष्ण को भोग (Janmashtami Bhog) लगाने के लिए यह मुख्य प्रसाद के रूप में बनाया जाता है। तो आइए आज जानते हैं पंचामृत (Panchamrit)/चरणामृत (Charanamrit) बनाने कि बहुत ही आसान सी विधि।

पंचामृत बनाने के लिए आवश्यक सामग्री :

दूध – 800 मिली लीटर
चीनी – 120 ग्राम
मखाने – 30 ग्राम
चिरौंजी – 10 ग्राम
शहद – 1 छोटा चम्मच
पिघला हुआ देसी घी – 1 छोटा चम्मच
दही – 160 ग्राम
तुलसी की पत्ती – 4 से 5
गंगाजल – 2 छोटे चम्मच
सूखा नारियल – 2 बड़े चम्मच कद्दूकस किया हुआ

चरणामृत(Charanamrit) व पंचामृत(Panchamrit) बनाने कि विधि :

  • सबसे पहले एक भगोने में 800 मिली लीटर ठंडा दूध लें और उसमें चीनी मिलाकर अच्छे से घोल लें।
  • अब एक मिक्सर जार में मखाने डालकर केवल 2 सेकेंड के लिए चलाएं, इससे आपके मखाने छोटे टुकड़े में तब्दील हो जाएँगे (आप चाहें तो मखानों को चाकू से छोटा-छोटा काट भी सकती हैं)।
  • अब सारे मखाने दूध में डाल दें और साथ ही चिरौंजी भी डालकर अच्छी तरह से चलाएं।
  • अब इसमें तुलसी के पत्ते, शहद, सूखा नारियल, गंगाजल व पिघला हुआ देसी घी डालें और अच्छे से मिला दें।
  • सबसे आखिर में दही मिलाएं और इस मिश्रण को अच्छे से चला दें जिससे सभी चीजें आपस में अच्छी तरह से मिक्स हो जाएं।
  • आपका स्वादिष्ट पंचामृत(Panchamrit) तैयार है। अब आप इसे भगवान को भोग लगा सकते हैं और फिर चरनामृत को सबमें बाँट सकते हैं।
Please follow and like us:

अन्य ख़बरें